देशविश्व ख़बर

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ देशद्रोह पर सजा-ए-मौत

देशद्रोह में पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को फांसी की सजा

Former Pakistan President Pervez Musharraf sentenced to death on treason

 पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को फांसी की सजा सुनाई गई है। पाकिस्तान की स्पेशल कोर्ट  ने पूर्व सैन्य शासक को दोषी करार देते हुए मौत की सजा सुनाई। वर्तमान में  परवेज मुशर्रफ दुबई में हैं। 3 नवंबर, 2007 को देश में आपातकाल  लगाने के जुर्म में परवेज मुशर्रफ पर दिसंबर 2013 में देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हुआ था। इस मामले में परवेज मुशर्रफ को 31 मार्च, 2014 में दोषी ठहराया गया था।

पाकिस्तान के पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ द्वारा लगाये गये  राजद्रोह मामले पर रोक की मांग करने वाली एक याचिका पर लाहौर उच्च न्यायालय ने 16 दिसंबर 2019  को  सरकार को नोटिस जारी किया गया था, इस  विशेष मामले पर  इस्लामाबाद की विशेष अदालत में कार्यवाही चल रहा थी। मुशर्रफ मार्च 2016 से दुबई में ही रह रहे हैं। वह पाकिस्तान के संविधान को भंग करने और 2007 में  पाकिस्तान में आपात शासन लगाने के मामले में राजद्रोह के आरोपों का सामना कर रहे थे। 76 वर्षीय मुशर्रफ उपचार के लिए दुबई गए थे लेकिन तब से सुरक्षा और स्वास्थ्य कारणों का हवाला देकर पाकिस्तान लौटे नहीं है.  उन पर 3 नवंबर 2007 को पाकिस्तान  मेंआपातकाल लगाने के लिए देशद्रोह का केस दर्ज किया गया था। इस मामले में दिसंबर 2013 में सुनवाई शुरू हुई थी।

मुशर्रफ को भगोड़ा घोषित किया जा चुका था

एक अदालत ने पूर्व राष्ट्रपति मुशर्रफ को भगोड़ा करार कर दिया है। पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने 1999 से 2008 तक पाकिस्तान में शासन किया. पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो और लाल मस्जिद के धार्मिक गुरु की हत्या के मामले में उन्हें भगोड़ा घोषित किया जा चुका है।

पाकिस्तानी मीडिया न्यूज़ की खबरों में बताया गया था कि मुशर्रफ एक दुर्लभ किस्म की बीमारी अमिलॉइडोसिस से बीमार हैं। इस बीमारी के कारण बची हुई प्रोटीन शरीर के अंगों में जमा होने लगती है। फिलहाल मुशर्रफ दुबई में  ईलाज करा रहे हैं।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker