delhiदेश

Arvind Kejriwal Oath Ceremony: ट्वीट कर बेबी मफलरमैन को दिया स्पेशल निमंत्रण

16 फरवरी को है शपथ ग्रहण

Arvind Kejriwal Oath Ceremony: ट्वीट कर बेबी मफलरमैन को दिया स्पेशल निमंत्रण

Arvind Kejriwal Oath Ceremony: दिल्‍ली का चुनाव जीतने के बाद आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल एक बार फिर से दिल्‍ली की सत्‍ता संभालने जा रहे हैं। इस बाद  केजरीवाल का शपथ ग्रहण समारोह (Arvind Kejriwal Oath Ceremony) 16 फरवरी को होने जा रहा है। केजरीवाल तीसरी बार दिल्‍ली की सत्‍ता सम्भालने जा रहे हैं। इस मौके को खास बनाने के लिए आप के कार्यकर्ता से लेकर हर नेता जुटा है।

केजरीवाल ने किया ट्वीट

इधर  अरविन्द केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा कि ‘दिल्लीवासियों, आपका बेटा तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री की शपथ लेने जा रहा है। अपने बेटे को आशीर्वाद देने ज़रूर आना है।’ इसके साथ ही बेबी मफलरमैन को भी इस कार्यक्रम में आने के लिए विशेष निमंत्रण दिया गया है।  बता दें कि  केजरीवाल की जीत के बाद मन रहे जश्‍न में एक बच्‍चा जो केजरीवाल के जैसे तैयार होकर आया था। उसने सारे लोगों का ध्‍यान अपनी ओर एकत्रित किया था। सोशल मीडिया पर भी इस बच्चे ( मापलरमैन) की  तस्‍वीर काफी वायरल हुई थी। इस बच्‍चे का नाम आवयान तोमर है। आप की पार्टी की ओर से इसे शपथ ग्रहण में बुलाया गया है।

16 फरवरी को है शपथ ग्रहण

बता दें कि दिल्ली के रामलीला मैदान में 16 फरवरी को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह के लिए आप ने दिल्ली के दो करोड़ लोगों को निमंत्रित किया है। आप के वरिष्ठ नेता मनीष सिसोदिया ने पार्टी मुख्यालय में प्रेसवार्ता कर विधायक दल की बैठक में लिए गए फैसलों की जानकारी दी। उन्होंने दिल्लीवासियों से अपील की कि सभी लोग समारोह में पहुंच कर दिल्ली के अपने बेटे अरविंद केजरीवाल को अपना आशीर्वाद दें। साथ ही सभी दिल्लीवासी भी शपथ लें कि हम सब मिलकर दिल्ली को नफरत की राजनीति से ऊपर ले जाएं। यहां विकास का ऐसा मॉडल बनाएंगे, जहां आम आदमी से जुड़े शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली व पानी जैसे मुद्दे राजनीति के केंद्र में हों।

काम की राजनीति को सम्‍मान देने के लिए दिल्‍ली की जनता का किया आभार

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता मनीष सिसोदिया ने एक बार फिर प्रचंड बहुमत के साथ आप को जिताने के लिए दिल्ली की दो करोड़ जनता का आभार व्यक्त किया और धन्यवाद दिया । उन्होंने कहा कि पहली बार काम की राजनीति को इतना बड़ा सम्मान किसी चुनाव में मिला है। देश को भी दिल्ली की जनता से ऐसी ही उम्मीद थी। जनता ने 70 में से 62 सीटें दी हैं। ऐसे में जितनी उम्मीद थी, उससे कहीं ज्यादा यहां की जनता ने काम की राजनीति को सम्मान दिया व नफरत की राजनीति को सिरे से नकारा।

विश्व मोबाइल कांग्रेस ने कोरोनावायरस भय पर रद्द कर दिया

GitHub आँखें भारतीय बाजार, स्थानीय सहायक बनाती हैं

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker