आरोपी पुलिसवालों ने करोल बाग इलाके के टैंक रोड में एक जींस बनाने का कारोबार करने वाले व्यापारी के यहां ट्रेड मार्क विभाग का अफसर बनकर 26 अगस्त को पहुंचे और व्यापारी अशोक और उसके कर्मचारियों को धमकी दी कि फैक्ट्री में एक नामी कंपनी का डुप्लीकेट माल बनाया जा रहा है.

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के तीन पुलिसकर्मी कारोबारियों के अपहरण में शामिल पाए गए हैं. पुलिस ने इस मामले में दो कांस्टेबलों को गिरफ्तार कर लिया जबकि तीसरे की तलाश है. सूत्रों की मानें तो दिल्ली पुलिस की थर्ड बटालियन में तैनात कांस्टेबल प्रमोद और कांस्टेबल सुमित व्यापारियों को झूठे केस में फंसाने की धमकी देकर उनका अपहरण करते थे और उनसे पैसे वसूलते थे. ये सभी कॉन्स्टेबल दिल्ली पुलिस की थर्ड बटालियन में तैनात हैं.

आरोप है कि इन लोगों ने करोल बाग इलाके के टैंक रोड में एक जींस बनाने का कारोबार करने वाले व्यापारी के यहां ट्रेड मार्क विभाग का अफसर बनकर 26 अगस्त को पहुंचे और व्यापारी अशोक और उसके कर्मचारियों को धमकी दी कि फैक्ट्री में एक नामी कंपनी का डुप्लीकेट माल बनाया जा रहा है. इसके बाद व्यापारी को तीनों पुलिसकर्मियों ने कार में बैठाया और दिल्ली में कई इलाकों में घुमाया और फिर लाखों की फिरौती लेकर छोड़ा.

वहीं एक-दूसरे मामले में 3 सितंबर को करोलबाग के एक मोबाइल कारोबारी को ये लोग अगवा करके ले गए, दुकान के कर्मचारियों ने पुलिस को इसकी जानकारी दे दी. पुलिस ने केस दर्ज कर सीसीटीवी के आधार पर आरोपी तीनों पुलिसकर्मियों की पहचान की पहचान की, जिसमें दो आरोपियों गिरफ्तार किया गया है ,दोनों सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया गया है,वहीं तीसरे आरोपी की तलाश जारी है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *