स्त्री रोगस्वास्थ्य टिप्स

बच्चेदानी में सूजन से राहत | Relieve inflammation in the uterus

Relieve inflammation in the uterus- बच्चेदानी में सूजन | Inflammation in the uterus | Bachchedaanee Mein Soojan

बच्चेदानी में सूजन | Inflammation in the uterus

 

बच्चेदानी में सूजन | Inflammation in the uterus | Bachchedaanee Mein Soojan

कई बार महिलाओ की बच्चेदानी में सूजन आ जाती है . जो की बदलते मौसम या वातावरण के प्रभाव से
बच्चेदानी को अत्यधिक प्रभावित करता है जिससे प्रभावित होने पे महिलाओ को बहुत दर्द उठाना पड़ता
है. इसके प्रभाव से भूख नही लगती . सर दर्द हल्का बुखार या कमर–दर्द और पेट-दर्द की समस्या रहती
है .

बच्चेदानी मे सूजन के कारण

बच्चेदानी मे सूजन के कारण | Causes of inflammation in the uterus

बच्चेदानी में सूजन | Inflammation in the uterus | Bachchedaanee Mein Soojan

  1. बच्चे के जन्म के दौरान सावधानी न बरतने के कारण भी बच्चेदानी में सूजन हो सकती है .
  2. पेट की मांसपेशियों में अधिक कमज़ोरी आ जाने के कारण तथा कसरत न करने के कारण या फिर
    अधिक सख्त कसरत करने के कारण भी बच्चेदानी में सूजन हो सकती है .
  3. भूख से अधिक भोजन सेवन करने के कारण महिलाओ के बच्चेदानी में सूजन आ जाती है तथा अधिक
    तंग कपडे पहनने के कारण भी सूजन हो सकती है .
  4. पेट में गैस तथा कब्ज बनने के कारण भी बच्चेदानी में सूजन हो जाती है.
  5. जरुरत से ज्यादा अधिक सहवास (सम्भोग) करने के कारण भी बच्चेदानी में सूजन हो सकती है .
  6. दवाइयों का अधिक सेवन करने के कारण भी बच्चेदानी में सूजन हो सकती है .

बच्चेदानी मे सूजन के कारण

बच्चेदानी में सूजन का उपचार | Treatment of inflammation in the uterus

बच्चेदानी में सूजन | Inflammation in the uterus | Bachchedaanee Mein Soojan

  1. बच्चेदानी में सूजन से पीड़ित महिला को चटपटे मसाले-मिर्च-तली हुई चीजें और मिठाई से परहेज रखना
    चाहिए .
  2. रेवन्दचीनी की 15 ग्राम की मात्र में पीसकर आधा आधा ग्राम पानी में दिन में दिन बार लेना चाहिए.
    इससे सूजन कम हो जाती है .
  3. पीड़ित महिला को दो तीन बार अपने पैर कम से कम एक घंटे के लिए एक फुट ऊपर उठाकर लेटना
    चाहिए और आराम करना चाहिए.
  4. सूजन को कम करने के लिए रोगी को 4 –5 दिनों तक फलो का जूस पीकर उपवास करना चाहिए .
    उसके बाद बिना पका हुआ संतुलित भोजन लेना चाहिए.
  5. अरंडी के पत्तों का रस छानकर रुई छानकर रुई भिगोकर बच्चेदानी के मुंह पर 3-4 दिनों तक रखने से
    सूजन मिट जाती है.
  6.  नीम, सम्भालू के पत्ते और सोठ को मिलकर काढ़ा बनाकर जननांग में लगाने से सूजन कम होती है.
  7. बच्चेदानी में सूजन | Inflammation in the uterus | Bachchedaanee Mein Soojan

NOTE : इन घरेलु तरीको को उपयोग में लेने से पहले डॉक्टर की सलाह जरुर लेवे .

सर्दियों में हड्डियों और जोड़ों के दर्द की परेशानी दूर होगी, जाने ये हेल्थ टिप्स

Tags
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker