फालना कस्बे में कानसिहं सिसोदिया की सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा, सुपारी देकर करवाई हत्या


फालना कस्बे में कानसिहं सिसोदिया की सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा, सुपारी देकर करवाई हत्या

फालना कस्बे में कानसिहं सिसोदिया की सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा

मुम्बई निवासी मुख्य अभियुक्त ने सुपारी देकर करवाई हत्या




पाली, 25 अगस्त। जिला पुलिस अधीक्षक श्री राहुल कोटोकी ने प्रेस वार्ता में बताया कि 20 अगस्त 2020 को पाली जिले के कस्बा फालना में फालना से साण्डेराव जाने वाले रोड पर शिवम टी स्टाल पर बैठकर चाय पी रहे फालना में रेल्वे टिकट बुकिंग व मोबाईल एसेसरीज विक्रय का कार्य करने वाले श्री कानसिहं पुत्र घीसुसिहं सिसोदिया (रावणा राजपूत) निवासी विजय नगर फालना की सुबह 12-12.30 बजे के आस-पास मोटरसाइकिल पर आए अज्ञात हमलावरों ने नजदीक से फायरिंग करके कानसिहं की हत्या कर दी थी, इस सन्दर्भ में मृतक कान सिहं के भाई मदनसिहं की लिखित रिपोर्ट पर थाना फालना पर प्रकरण संख्या 119 धारा 302/34, 120 बी भादस में दर्ज कर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया।

        प्रकरण की संवेदनशीलता एवं गंभीरता को देखते हुए स्वयं जिला पुलिस अधीक्षक राहुल कोटोकी ने फालना पहुंचकर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बाली, वृत्ताधिकारी बाली एवं थानाधिकारी फालना के साथ घटनास्थल का निरीक्षण किया एवं फालना अस्पताल पहुंचकर मृतक कानसिहं के परिजनों से मुलाकात कर घटना की विस्तृत जानकारी ली। जिला पुलिस अधीक्षक ने दिन दहाडे हत्या के इस गम्भीर प्रकरण के घटनाक्रम के खुलासे एवं अज्ञात आरोपीगण के खुलासे बावत अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बाली श्री बृजेष सोनी के निकट पर्यवेक्षण में एवं वृत्ताधिकारी बाली श्री हिमांषु जांगिड के नैतृत्व में विषेष टीमों का गठन किया इन पृथक-पृथक गठित की गई टीमों द्वारा घटनास्थल के आस-पास लगे हुए सीसीटीवी कैमरों की फूटेज का अवलोकन किया गया। फालना कस्बे में रेल्वे स्टेषन के समीप साईनाथ ट्रेवल्स व साई मोबाईल नाम से दुकान चलाने वाले मृतक कानसिहं सिसोदिया के बारे में गहनता से जानकारी प्राप्त की गई एवं कानसिहं से किसी की दुष्मनी एवं रंजिष बावत समस्त जानकारियां गोपनीय रूप से प्राप्त की गई। फालना से जादरी, बांकली, खिन्दारा, षिवगंज, सुमेरपुर की तरफ जाने वाले प्रत्येक रास्ते पर पुलिस टीमों द्वारा जाकर अज्ञात संदिग्ध आरोपीगण बावत जानकारियां जुटाई गई, साण्डेराव, सुमेरपुर, पाली, जोधपुर, सिरोही की तरफ जाने वाले मार्गों पर टोलनाकांे पर जाकर जानकारियां जुटाई गई। कस्बा फालना एवं सुमेरपुर, षिवगंज, साण्डेराव की तरफ जाने वाले मार्गों पर साईबर टीम द्वारा जाकर बीटीएस लोकेषन प्राप्त किए तथा गहनतापूर्वक कई संदिग्ध मोबाईल नम्बरों का विष्लेषण किया गया। इस कार्य में शामिल पुलिस थाना फालना, बाली, सुमेरपुर, साण्डेराव, रानी व साईबर टीम के पुलिस कार्मिकों द्वारा गंभीरता एवं गहनता से कार्य किया गया।

        अनुसंधान से प्राप्त समस्त तथ्यों के विष्लेषण से इस महत्वपूर्ण प्रकरण का खुलासा हुआ तथा कडी से कडी जोडने के बाद कानसिहं सिसोदिया निवासी विजय नगर फालना की हत्या में मुख्य आरोपी श्री भरत वैष्णव पुत्र श्री नवलदास वैष्णव निवासी नोवी हाल जावेरी बाजार, मुम्बई द्वारा दस लाख रूपये में कानसिहं की हत्या की सुपारी देकर हत्या करवाना अनुसंधान से स्पष्ट हुआ हैं।

        अनुसंधान से पाया गया कि मृतक कानसिहं सिसोदिया फालना स्टेषन के पास रेल्वे के टिकट बुकिंग व रिजर्वेषन का काम करता था तथा मुख्य आरोपी भरत वैष्णव व उसकी पत्नि परिवार भी मुम्बई से फालना जरिए ट्रेन आते-जाते थे तथा इसी सन्दर्भ में ट्रेन के टिकट्स की बुकिंग का कार्य वो कानसिहं सिसोदिया के माध्यम से करवाते थे इसी सिलसिले में कानसिहं सिसोदिया व मुख्य आरोपी भरत वैष्णव के मध्य अच्छे संबंध हो गए तथा दोनों का आपसी पारिवारिक संबंध हो गया था दोनों के द्वारा साथ में जमीन संबंधी व्यापार भी किया गया। आरोपी भरत वैष्णव की पत्नि एवं मृतक कानसिहं सिसोदिया के मध्य इस दौरान नजदीकी संबंध होने बावत आरोपी भरत वैष्णव को शक होने लगा तथा उसे उसके नजदीकी लोगों के माध्यम से भी मृतक कानसिहं से उसकी पत्नि के नजदीकी संबंधों की जानकारी मिलने पर उसने अपनी पत्नि से झगडा किया तथा पिछले 3-4 साल से भरत वैष्णव का उसकी पत्नि के कानसिहं से नजदीकीयों को लेकर विवाद बढता जा रहा था तथा इसी शक के कारण उसका कानसिहं सिसोदिया से कई बार फोन पर झगडा भी हुआ तथा उसने कानसिहं को मर्डर करवाने की धमकियां भी दी। इसी कारण आरोपी भरत वैष्णव ने कानसिहं को मारने की योजना बनाई तथा इस हेतु जिला सिरोही के अपराधी प्रवृत्ति के अरविन्दकरण सिहं पुत्र छत्तर सिहं देवडा निवासी मोछाल से उसका सम्पर्क हुआ तथा भरत वैष्णव ने इसी वर्ष जनवरी-फरवरी में, जब वह मुम्बई से अपने गांव नोवी आया हुआ था।

       तब अरविन्दकरण सिहं निवासी मोछाल जिला सिरोही से सुमेरपुर में मुलाकात कर कानसिहं सिसोदिया की हत्या करने का कहा तथा इस बावत दस लाख रूपये अरविन्दकरण सिहं को देना तय किया तथा बतौर एडवान्स पांच लाख रूपये मुख्य आरोपी भरत वैष्णव ने अरविन्दकरण सिहं निवासी मोछाल (सिरोही) को दे दिए तब आरोपी अरविन्दकरण सिहं ने 1 माह में कानसिहं सिसोदिया निवासी फालना की हत्या कर देने बावत भरत वैष्णव को कहा। आरोपी अरविन्दकरण सिहं स्वयं के फोन से मुख्य आरोपी भरत वैष्णव से सम्पर्क नही करता था बल्कि अपने रिष्तेदार ईष्वर सिहं पुत्र नरपत सिहं निवासी मोछाल थाना पालडी एम जिला सिरोही जो षिवगंज क्षेत्र में वृन्दावन होटल नामक ढाबा चलाता हैं के फोन से बात करता था तथा ईष्वर सिहं को आरोपी भरत वैष्णव द्वारा आरोपी अरविन्दकरण के मार्फत कानसिहं की हत्या से संबंधित समस्त तथ्यों की जानकारी रहती थी। काफी समय तक जब कानसिहं की हत्या बावत कार्य नही हुआ तो आरोपी भरत वैष्णव ने ईष्वर सिहं को फोन पर कई बार कहा कि अरविन्दकरण सिहं ने उससे पांच लाख रूपये ले लिए हैं किन्तु उसका काम क्यों नही कर रहा? तथा फोन पर बात भी नही कर रहा ? तब मुख्य आरोपी भरत वैष्णव को यह शंका भी हुई कि कहीं उसके साथ आरोपी अरविन्दकरण ने धोखा देकर पांच लाख रूपये तो नही ले लिए। आरोपी अरविन्दकरण सिहं ने ईष्वरसिहं के फोन से भरत वैष्णव से वार्ता की तथा उसे कहा कि तुम्हारा काम जल्दी हो जाएगा। इसी दौरान दिनांक 19 अगस्त 2020 को आरोपी ईष्वरसिहं निवासी मोछाल (सिरोही) ने अपने मोबाइल से आरोपी भरत वैष्णव को काॅल करके कहा कि आपका काम 1-2 दिन में हो जाएगा आप बाकी पेमेन्ट की व्यवस्था करके रखों। इसके बाद दिनांक 20 अगस्त 2020 को कस्बा फालना में आरोपीगण द्वारा कानसिहं सिसोदिया की गोली मारकर हत्या करने के पश्चात दिन में 1 बजे से 2 बजे के मध्य ईष्वर सिहं निवासी मोछाल द्वारा भरत वैष्णव के फोन पर व्हाट्स अप काॅल करके कानसिहं की हत्या करने की सूचना दी तथा बाकी पेमेन्ट का कहा। इस घटनाक्रम में अनुसंधान से आरोपी अरविन्दकरण सिहं नि. मोछाल (सिरोही) एवं ईष्वरसिहं पुत्र नरपतसिहं नि. मोछाल तथा इनके अन्य साथियों धर्मा उर्फ धर्मेष पुत्र केसाराम निवासी सुमेरपुर एवं जुबेर जई पुत्र मुर्तजा खां निवासी शिवगंज हाल जालौर व दो अन्य सह आरापियों के साथ मिलकर योजना बनाकर कस्बा फालना में साई नाथ ट्रावेल्स व साई मोबाईल की दुकान चलाने वाले कानसिहं सिसोदिया की गोली मारकर हत्या करना अब तक के अनुसंधान से स्पष्ट हुआ हैं। प्रकरण में आरोपीगण भरत वैष्णव पुत्र नवलदास वैष्णव निवासी नोवी हाल मुम्बई तथा ईष्वरसिहं पुत्र नरपतसिहं देवडा निवासी मोछाल जिला सिरोही को पुलिस टीमों द्वारा दस्तयाब कर हिरासत में ले लिया गया हैं, इन्हें पुलिस रिमाण्ड पर लिया जाकर विस्तृत अनुसंधान किया जाएगा एवं शेष आरोपीगण अपने मोबाइल बन्द करके फरार हैं इन आरोपीगण की तलाष एवं गिरफ्तारी हेतु अलग-अलग टीमें भिजवाई गई हैं साथ ही घटना में प्रयुक्त मोटरसाईकिलों एवं अन्य वाहन तथा आरोपीगण के द्वारा घटना में प्रयुक्त फायर आम्र्स के संबंध में पुलिस द्वारा गंभीरता से अनुसंधान किया जा रहा है। शेष आरोपीगण को भी शीघ्र गिरफ्तार किया जाएगा।

गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों का विवरणः-
01. भरत वैष्णव पुत्र नवलदास वैष्णव निवासी नोवी हाल मुम्बई
02. ईष्वरसिहं पुत्र नरपतसिहं देवडा निवासी मोछाल जिला सिरोही

इस प्रकरण के खुलासे में शामिल टीमः-  
01. श्री रविन्द्रसिहं खींची नि.पु. थानाधिकारी पुलिस थाना सुमेरपुर
02. श्री बलभद्रसिहं नि.पु. थानाधिकारी पुलिस थाना बाली
03. श्री अषोकसिहं उ.नि. थानाधिकारी पुलिस थाना फालना
04. श्री राजदीपेन्द्रसिहं उ.नि. डीएसटी पाली
05. श्री कमलसिहं स.उ.नि. पुलिस चैकी नाडोल  
06. श्री गौतम आचार्य हेड कानि. 531 सायबर सेल
07. श्री गणपतसिहं हेड कानि. 323 पुलिस थाना बाली
08. श्री दलपतसिहं हेड कानि. 288 पुलिस थाना फालना
09. श्री रूप सिहं कानि. 1237 पुलिस थाना सुमेरपुर
10. श्री भंवरलाल कानि. 1365 पुलिस थाना सुमेरपुर
11. श्री महेष कुमार कानि नं. 370 पुलिस थाना कोतवाली
12. श्री तेजसिहं हेड कानि. 215 पुलिस थाना बाली
13. श्री दिनेष विष्नोई कानि. 744 पुलिस थाना बाली
14. श्री बच्चुसिहं कानि. 637 पुलिस थाना रानी
15. श्री पप्पुराम कानि नं. 1492 पुलिस थाना रानी
16. श्री प्रवीण कुमार कानि. 308 पुलिस थाना फालना
17. श्री जयसिहं कानि. 156 पुलिस थाना फालना  
18. श्री प्रमोदसिहं कानि. 1210 पुलिस थाना फालना  
19. श्री राजेष मीणा कानि. 1238 पुलिस थाना फालना  
20. श्री कृष्ण कुमार कानि. 1389 पुलिस थाना फालना  
21. श्री गोविन्द सहाय कानि. 1607 पुलिस थाना फालना  
22. श्री चन्द्रसिहं कानि. 169 पुलिस थाना षिवगंज।
-----------


ये भी पढ़े :-

 

0/Post a Comment/Comments

ad

ad