Surya Grahan 2020: भारत में साल के पहले सूर्य ग्रहण की खास बाते

Surya Grahan 2020 HD PHOTO
Surya Grahan 2020 India

Surya Grahan 2020: ग्रहण का वलयाकार रूप सुबह उत्तर भारत (North India) के राजस्थान (Rajasthan), हरियाणा (Haryana) और उत्तराखंड (Uttrakhand) के कुछ हिस्सों में दिखाई देगा. इन राज्यों के भीतर भी कुछ प्रमुख स्थान हैं.

नई दिल्ली: Surya Grahan 2020: देश के कुछ हिस्सों में रविवार को वलयाकार सूर्यग्रहण (Surya Grahan 2020) दिखाई देगा, जिसमें सूर्य 'अग्नि वलय' की तरह दिखाई दिया. पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने कहा कि ग्रहण (Solar Eclipse 2020) का आंशिक रूप सुबह 9.16 बजे शुरू हुआ था. वलयाकार रूप सुबह 10.19 बजे शुरू हुआ था और यह अपराह्न 2.02 बजे समाप्त हो गया था.

  • ग्रहण का वलयाकार रूप सुबह उत्तर भारत के राजस्थान, हरियाणा और उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में दिखाई दिया. इन राज्यों के भीतर भी कुछ प्रमुख स्थान हैं, जहां से स्पष्ट पूर्ण ग्रहण दिखेगा, जिनमें देहरादून, कुरुक्षेत्र, चमोली, जोशीमठ, सिरसा, सूरतगढ़ शामिल हैं
  • यह कांगो, सूडान, इथियोपिया, यमन, सऊदी अरब, ओमान, पाकिस्तान और चीन से भी होकर गुजरा.
  • चेन्नई में रविवार को सुबह 10.22 बजे से लेकर दोपहर 1.41 बजे तक आंशिक सूर्यग्रहण देखने को मिला.
  • बेंगलुरु में रविवार सुबह 10:12 बजे से लेकर दोपहर 1:31 बजे तक आंशिक सूर्यग्रहण दिखाई दिया.

  • वलयाकार सूर्य ग्रहण तब होता है जब चंद्रमा का कोणीय व्यास सूर्य से कम हो जाता है जिससे चंद्रमा सूर्य को पूरी तरह से नहीं ढक पाता है. इसके परिणामस्वरूप, चंद्रमा के चारों ओर सूर्य का बाहरी हिस्सा दिखता रहता है, जो एक अंगूठी का आकार ले लेता है. यह ‘अग्नि-वलय' की तरह दिखता है. इसे रिंग ऑफ फायर भी कहा जाता है.

0/Post a Comment/Comments

ad

ad