International Day of Yoga 2020 : अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2020 पर जानिए कैसे भारत बना योग का विश्वगुरु

21 जून 2020 को भारत ही नहीं बल्कि दुनिया की लगभग आधी आबादी योग कर रही है। कोरोना वायरस के कारण इस बार International Yoga Day 2020 पर किसी भी प्रकार का भव्य आयोजन तो नहीं होगा लेकिन इस बार International Yoga Day 2020 Theme बेहद ही दिलचस्प है। आइए इस योग दिवस पर इससे जुड़ी कुछ खास बातें जानते हैं।



कोरोना वायरस की महामारी ने कई चीजों को प्रभावित किया है। इस बार अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के जगह-जगह होने वाले आयोजन भी फीके रहेंगे। आज 21 जून 2020 को पूरी दुनिया में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है। हर साल 21 जून के दिन बड़े-बड़े आयोजन होते थे, जहां पर योगासन के विभिन्न फायदे और सेहत पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में बड़ी संख्या में लोगों को संबोधित भी किया जाता था।

इस बार कोरोना वायरस के कारण सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए किसी भी प्रकार का आयोजन नहीं किया जा रहा है। संयुक्त राष्ट्र संघ ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2020 की थीम भी इसी बात को ध्यान में रखते हुए रखी है। आइए अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के बारे में कुछ खास बातें आपको बताते हैं।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2020 आज 21 जून 2020 को पूरी दुनिया में मनाया जा रहा है। संयुक्त राष्ट्र संघ के द्वारा कोरोना वायरस की महामारी के चलते इस बार अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की थीम को भी काफी विचार-विमर्श के बाद रखा गया है।

कोरोना वायरस से बचे रहने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग बहुत महत्वपूर्ण है। यही वजह है कि संयुक्त राष्ट्र संघ के द्वारा International Yoga Day 2020 की थीम - "Yoga For Health - Yoga From Home". रखी गई है। इसका मतलब 'सेहत के लिए योग - घर से योग" है। लोगों के द्वारा भी इस थीम को फॉलो करना बहुत जरूरी है ताकि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने में मदद मिले और अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर रखी गई थीम का उद्देश्य भी सार्थक साबित हो।

योग में पूरी दुनिया का विश्वगुरु बनने वाले भारत देश में पहला विश्व योग दिवस 21 जून 2015 को नई दिल्ली के राजपथ में मनाया गया था। आंकड़ों की मानें तो इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में करीब 35,985 लोगों ने एक साथ 35 मिनट तक तकरीबन 21 प्रकार के अलग-अलग योगासनों को किया गया था।

0/Post a Comment/Comments

ad

ad