Videos

लॉकडाउन से थक हार घर की ओर निकले 16 मजदूरों की मालगाड़ी के कुचलने से मौत, सभी थक कर पटरी पर सो रहे थे

लॉकडाउन से थक हार घर की ओर निकले 16 मजदूरों की मालगाड़ी के कुचलने से मौत, सभी थक कर पटरी पर सो रहे थे

लॉकडाउन से थक हार घर की ओर निकले 16 मजदूरों की मालगाड़ी के कुचलने से मौत, सभी थक कर पटरी पर सो रहे थे  

औरंगाबाद। लॉकडाउन के बीच आज  सुबह महाराष्ट्र के औरंगाबाद में बड़ा हादसा हो गया।यहां रेलवे ट्रैक पर सो रहे मजदूरों के ऊपर से मालगाड़ी गुजरने गई, जिसमें 16  मजदूरों की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि जालना की फैक्ट्री में काम करने वाले मजदूर अपने घर की ओर जालना से भूसावल जा रहे थे। मजदूरों को उम्मीद थी कि वहां से मद्यप्रदेश जा पाएंगे। इस हादसे में 5 लोग घायल भी हो गए हैं, जिन्हें औरंगाबाद के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दक्षिण मध्य रेलवे के सीपीआरओ ने इस बात की जानकारी दी है।
मिली जानकारी के अनुसार, यह घटना औरंगाबाद-जालना रेलवे लाइन पर शुक्रवार सुबह 5.15 बजे हुई. फ्लाईओवर के पास पटरियों पर सो रहे 21 प्रवासी मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई। यह सभी प्रवासी मजदूर मध्य प्रदेश के थे और ट्रेन पकड़ने के लिए भुसावल की ओर जा रहे थे। सभी मजदूर जलगांव में आयरन फॉट्री में काम करते थे। गुरुवार को भी औरंगाबाद से मध्य प्रदेश की ट्रेन चली थी। मजदूर 35-36 किलोमीटर चलने के बाद पटरी पर बदनपुर और करमड के बीच सो गए। सभी मध्य प्रदेश स्थित शहडोल जिले 12 और उमरिया जिले के 4 रहने वाले हैं। इस घटना पर साउथ सेंट्रल रेलवे के पीआरओ ने कहा कि ये माल गाड़ी की खाली रेक थीं। आरपीएफ और स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंच रही है।
दक्षिण मध्‍य रेलवे के मुख्‍य जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि औरंगाबाद में करमाड के नजदीक यह हादसा हुआ, जब मालगाड़ी ने कुछ लोगों को कुचल दिया। रेलवे पुलिस बल और स्‍थानी पुलिस घटनास्‍थल पर पहुंचकर हालात का जायजा ले रही है।
बता दें कि देशव्यापी लॉकडाउन के चलते कई प्रवासी मजदूर देश के विभिन्न राज्यों में फंसे हैं। उनके रोजी चली गई है। दो वक्त की रोटी के लिए भी उनको संघर्ष करना पड़ रहा है। ऐसे में ये मजदूर चाहते हैं कि ये किसी भी प्रकार से अपने घर चले जाएं।
महाराष्ट्र के औरंगाबाद की दुखद घटना में मारे गए श्रमिक मध्यप्रदेश के शहडोल और उमरिया जिले के हैं। रेल मंत्री से बात कर टीम को ओरंगाबाद रवाना कर दिया गया हैं।
@ChouhanShivraj ने महाराष्ट्र के सी एम से बात कर प्रभावितों को राहत देने का ऐलान किया है। और सभी मृतक के परिजनों को को 5-5 लाख रुपये देने की घोषणा भी की हैं।
वही शहडोल कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक सभी मजदूरों की जानकारी में जुट गए हैं।

0 Response to "लॉकडाउन से थक हार घर की ओर निकले 16 मजदूरों की मालगाड़ी के कुचलने से मौत, सभी थक कर पटरी पर सो रहे थे "

टिप्पणी पोस्ट करें

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel