Breaking News

कर्नाटक / भाजपा नेतृत्व ने येदि से कहा- ऐसा कोई कदम ना उठाएं, जिससे जेडीएस-कांग्रेस सरकार अस्थिर हो


  • कर्नाटक भाजपा अध्यक्ष येदियुरप्पा ने कहा- सिद्धारमैया अपने कुछ विधायक मेरे पास भेज सकते हैं
  • कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन में मतभेद सामने आने के बाद गुलाम नबी आजाद और वेणुगोपाल बेंगलुरु गए थे

बेंगलुरु. कर्नाटक भाजपा अध्यक्ष बीएस येदियुरप्पा ने शनिवार को कहा कि केंद्रीय नेतृत्व ने उन्हें राज्य की मौजूदा सरकार को लेकर निर्देश दिए हैं। येदियुरप्पा ने बताया कि केंद्रीय नेतृत्व ने उनसे कहा कि कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार को अस्थिर करने के लिए कोई कदम ना उठाया जाए। 
येदि ने कहा- मैं अभी दिल्ली से लौटा हूं। हमारे नेताओं ने निर्देश दिया है कि कर्नाटक सरकार को गिराने जैसा कोई कदम ना उठाएं। मुझे ये भी लगता है कि सिद्धारमैया अपने कुछ विधायक हमारे पास भेज सकते हैं ताकि राजनीतिक फायदा उठाया जा सकें। लेकिन, हम अभी शांत रहेंगे। वे लोग आपस में लड़ सकते हैं और कुछ भी हो सकता है।
कर्नाटक कांग्रेस ने कहा- गठबंधन सरकार को कोई खतरा नहीं
कर्नाटक में कांग्रेस के 79 और जेडीएस के 37 विधायक हैं। भाजपा के पास 104 विधायक हैं। कांग्रेस और जेडीएस के बीच लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान मतभेद सामने आए थे। इसे दूर करने के लिए कांग्रेस ने गुलामनबी आजाद और केके वेणुगोपाल को बेंगलुरु भी भेजा था। दोनों नेताओं ने कांग्रेस विधायक दल की बैठक में नेताओं को समझाया था। इसके बाद कर्नाटक कांग्रेस ने कहा कि राज्य की गठबंधन सरकार को कोई खतरा नहीं है।
येदि ने दावा किया था- 20 कांग्रेस विधायक भाजपा में आएंगे
हाल ही में येदियुरप्पा ने दावा किया था कि लोकसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद कांग्रेस के 20 विधायक पाला बदल लेंगे। येदि ने यह भी दावा किया कि जेडीएस और कांग्रेस गठबंधन से नाराज विधायकों की मदद से हम फिर से सत्ता हासिल करेंगे। उन्होंने कहा था कि जिस तरह से राज्य में गठबंधन सरकार चलाई जा रही है, उससे ये विधायक खुश नहीं हैं।