Breaking News

हनुमान बेनीवाल के नाम सुसाइड नोट में लिखकर महिला ट्रेन के आगे कूदी

हनुमान बेनीवाल के नाम सुसाइड नोट में लिखकर महिला ट्रेन के आगे कूदी

जयपुर। राजस्थान के सीमावर्ती बाड़मेर जिले में एक महिला ने केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी और सांसद हनुमान बेनीवाल के नाम सुसाइड नोट में लिखकर ट्रेन के आगे छलांग लगा दी। पीडि़ता ने अपनी मासूम बेटी के साथ आत्महत्या की है। सुसाइड नोट में नेताओं के नाम क्यों लिखे, इसके बारे में अभी रहस्य बरकरार है। हालांकि, पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।
जानकारी के अनुसार बाड़मेर के सदर पुलिस थाना क्षेत्र के जसदेव तालाब के पास शनिवार को एक महिला ने अपनी मासूम बेटी के साथ मालानी एक्सप्रेस ट्रेन के आगे कूद कर आत्महत्या कर ली । हादसे के बाद ट्रेन को रोक कर शवों को ट्रेन में रखकर बाड़मेर रेलवे स्टेशन लाया गया, जहां सदर थाना पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया।
रेलवे प्रशासन की सूचना पर पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए ले जाया गया। घटना स्थल से महिला के पास से दो पेज का सुसाइड नोट भी बरामद हुआ, जिससे उसकी शिनाख्त मोहिनी चौधरी व उसकी बेटी हीनी के रूप में हुई । सुसाइड नोट में मोहिनी ने अपने ससुराल पक्ष के दो लोगों का नाम लिखते हुए उन पर मारपीट कर प्रताडि़त करने का आरोप लगाया है ।

–– ADVERTISEMENT ––

जानकारी के अनुसार सुसाइड नोट में उसने केंद्रीय राज्यमंत्री कैलाश चौधरी, नागौर से भाजपा सांसद हनुमान बेनीवाल के जिक्र करते हुए भाजपा जिंदाबाद लिखा।
सुसाइड नोट को वायरल करने की मांग की
मोहिनी ने सुसाइड नोट के अंत में केंद्रीय राज्यमंत्री एवं बाड़मेर सांसद कैलाश चौधरी जिन्दाबाद, नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल जिंदाबाद, भाजपा जिंदाबाद लिखते हुए सुसाइड नोट को वायरल करने की अपील की।
किरण सिंह भाटी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मोहिनी ग्रेजुएट थी, लेकिन ससुराल में चल रहे विवाद के कारण कुछ दिनों से परेशान थी। शायद इसी के चलते उसने आत्महत्या की। केंद्रीय मंत्री और सांसद का नाम सामान्य ढंग से उसने सुसाइड नोट में लिखा है । इसमें कोई विशेष बात नहीं है । हालांकि, मामले की जांच की जा रही है । जांच के बाद ही तथ्य सामने आएंगे 







कोई टिप्पणी नहीं