Breaking News

इंडिया vs इंग्‍लैंड (England vs India ): ENG vs IND : 50 ओवर में इंग्‍लैंड ने बनाए 337 रन, मो.शमी ने लिए 5 विकेट

इंडिया vs इंग्‍लैंड (England vs India): ENG vs IND Live: 50 ओवर में इंग्‍लैंड ने बनाए 337 रन, मो.शमी ने लिए 5 विकेट



India vs England : भारत सेमीफाइनल में जाने से एक अंक की दूरी पर है तो वहीं इंग्लैंड को सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए हर हाल में आज का मैच जीतना होगा. इंग्‍लैंड की टीम शुरुआत में अच्‍छे प्रदर्शन के बाद लड़खड़ाती नजर आई है.

बर्मिंघम:
England vs India : वर्ल्‍डकप 2019 (World Cup 2019) में भारतीय गेंदबाजों का आज इंग्‍लैंड के बल्‍लेबाजों ने 'कड़ा टेस्‍ट' लिया. सेमीफाइनल में स्‍थान बनाने के लिए संघर्ष कर रही इंग्‍लैंड टीम के दोनों ओपनरों जेसन रॉय और जॉनी बेयरस्‍टॉ ने आज भारतीय गेंदबाजों पर जमकर हमला बोला और तेज गति से पहले विकेट के लिए 160 रन रन की साझेदारी कर डाली. इन दोनों बल्‍लेबाजों के बेहतरीन योगदान की बदौलत इंग्‍लैंड टीम 50 ओवर्स में 7 विकेट खोकर 337 रन का स्‍कोर (England vs India) बनाने में सफल रही. जहां जॉनी बेयरस्‍टॉ (Jonny Bairstow) ने शतक (111 रन) जड़ा, वहीं चोट से उबरने के बाद टीम में लौटे जेसन रॉय (Jason Roy) ने 57 गेंदों पर ताबड़तोड़ 66 रन बना डाले. ये दोनों बल्‍लेबाज जब तक क्रीज पर थे, ऐसा लग रहा था कि इंग्‍लैंड 350 रन यहां तक कि 400 रन के पास स्‍कोर बनाने में सफल हो जाएगी. हालांकि भारतीय गेंदबाजों खासकर मोहम्‍मद शमी ने 25 ओवर के बाद स्थिति को बखूबी नियंत्रित किया और लगातार विकेट लेते हुए इंग्‍लैंड को 337 के स्‍कोर पर रोकने में अहम भूमिका निभाई. शमी (Mohammed Shami) ने 10 ओवर में 69 रन देकर पांच विकेट लिए. उन्‍होंने पहली बार वनडे में पांच विकेट हासिल किए हैं. हरफनमौला बेन स्‍टोक्‍स ने 54 गेंदों पर छह चौकों और तीन छक्‍कों की मदद से  रन की पारी खेली. भारत के सामने जीत के लिए 338 रन का टारगेट है.

Match 38, एजबैस्टन, बर्मिंघम, Jun 30, 2019

  •  
    इंग्लैंड
    337/7 (50.0)

  • इंग्‍लैंड की पारी: रॉय-बेयरस्‍टॉ की तूफानी पारियों के बाद चमके शमी
    पहले बैटिंग करते हुए जेसन रॉय और जॉनी बेयरस्‍टॉ की जोड़ी ने इंग्‍लैंड को तेज शुरुआत दी. मो. शमी के पहले ही ओवर में रॉय ने दो चौके लगाए. तीसरे ओवर में बेयरस्‍टॉ ने भी शमी को चौका लगाया. हालांकि यह शॉट बल्‍ले का किनारा लेकर निकला था.पांच ओवर के बाद स्‍कोर बिना विकेट खोए 28 रन पहुंच गया था. ऐसे में कप्‍तान विराट कोहली ने छठे ओवर में ही लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल को बॉलिंग पर उतार दिया.पारी के आठवें और चहल के दूसरे ओवर में रॉय ने दो चौके लगाए.पहले पावरप्‍ले (10 ओवर) के बाद इंग्‍लैंड का स्‍कोर बिना विकेट खोए 47 रन तक पहुंच गया था. 11वें ओवर में बॉलिंग के लिए आए हार्दिक पंड्या को रॉय ने छक्‍का और चौका लगाया. इस ओवर में 13 रन बने. हालांकि ओवर में इन दोनों शॉट के पहले रॉय के खिलाफ विकेट के पीछे कैच की अपील हुई थी लेकिन टीम इंडिया ने रिव्‍यू नहीं लिया. रिप्‍ले में दिखा कि गेंद बल्‍लेबाज के ग्‍लव्‍ज से लगकर विकेटकीपर तक पहुंची थी. टीम इंडिया के 50 रन 10.4 ओवर में पूरे हुए. हार्दिक का अगला (पारी का 13वां) ओवर भी महंगा रहा, इसमें बेयरस्‍टॉ ने दो चौके लगाए. इंग्‍लैंड का औसत इस समय छह रन प्रति ओवर के आसपास था. 14वें ओवर में रॉय ने चहल को चौका और फिर छक्‍का लगाया.15वें ओवर में चाइनामैन कुलदीप यादव को गेंदबाजी के लिए बुलाया गया, इस ओवर में रॉय और बेयरस्‍टॉ ने एक-एक चौका लगाया. बुमराह को छोड़कर भारत के सभी गेंदबाज महंगे साबित हो रहे थे. इंग्‍लैंड के 100 रन 15.3 ओवर में पूरे हुए जबकि बेयरस्‍टॉ का 10 वां वनडे अर्धशतक 56 गेंदों पर सात चौकों और दो छक्‍कों की मदद से पूरा हुआ.जेसन रॉय का अर्धशतक 41 गेंदों पर सात चौकों और एक छक्‍के की मदद से पूरा हुआ.23वें ओवर में आखिरकार कुलदीप यादव भारत को पहली कामयाबी लेकर आए. उन्‍होंने रॉय (66 रन, 57 गेंदें, सात चौके और दो छक्‍के) को अतिरिक्‍त खिलाड़ी रवींद्र जडेजा के हाथों कैच कराया. जडडू ने बायीं ओर दौड़ लगाकर डाइव लगाते हुए इस कैच को बेहतरीन तरीके से लपका. पहले विकेट के लिए इंग्‍लैंड के दोनों ओपनरों ने 160 रन की साझेदारी की. रॉय की जगह जो रूट ने ली. भारत के लिए परेशानी इस समय यह थी कि इंग्‍लैंड का रन औसत 7 रन प्रति ओवर से भी ऊपर पहुंच चुका था. 25  ओवर के बाद स्‍कोर 180 रन था.



    बेयरस्‍टॉ का शतक 90 गेंदों पर आठ चौकों और छह छक्‍कों की मदद से पूरा हुआ. इंग्‍लैंड के 200 रन 29.4 ओवर में पूरे हुए. भारत के लिए इस समय राहत की थोड़ी बहुत बात यही थी कि इंग्‍लैंड का रन औसत गिरकर 6.5 के करीब आ गया था. 32वें ओवर में शमी ने बेयरस्‍टॉ (111 रन, 109 गेंद, 10 चौके और दो छक्‍के) को ऋषभ पंत के हाथों कैच कराकर भारत को दूसरी सफलता दिलाई. जॉनी के आउट होने से टीम इंडिया को राहत मिली थी. शमी ने जल्‍द ही भारत को तीसरी सफलता दिलाते हुए नए बल्‍लेबाज इयोन मोर्गन (1) को हाथ खोलने के पहले ही फाइन लेग पर केदार जाधव से लपकवा दिया.तीन विकेट गिरने से भारतीय गेंदबाजों का मनोबल बढ़ गया था. वे रूट और स्‍टोक्‍स को हाथ खोलने का ज्‍यादा मौका नहीं दे रहे थे. यही कारण रहा कि रन औसत गिरते हुए छह रन प्रति ओवर से नीचे आ गया था.ओवर तेजी से निकलते जा रहे थे, ऐसे में पारी के 40वें ओवर में स्‍टोक्‍स ने चहल को पहले चौका और फिर छक्‍का जड़कर स्‍कोर को गति दी. ओवर में 15 रन बने.इंग्‍लैंड के 250 रन 40.3 ओवर में पूरे हुए. इंग्‍लैंड के 250 रन 40.3 ओवर में पूरे हुए. चहल ने अपने 10 ओवर में 88 रन दिए और उन्‍हें कोई विकेट नहीं मिला. यह वनडे में उनका सबसे महंगा स्‍पैल रहा.इंग्‍लैंड का चौथा विकेट जो रूट (44) के रूप में गिरा, जिन्‍हें शमी ने पंड्या से कैच कराया. इस ओवर में नए बल्‍लेबाज बटलर ने छक्‍का भी लगाया. स्‍टोक्‍स का अर्धशतक 38 गेंदों पर तीन चौकों और दो छक्‍कों की मदद से पूरा हुआ. बेन स्‍टोक्‍स का अर्धशतक 38 गेंदों पर तीन चौकों और दो छक्‍कों की मदद से पूरा हुआ जबकि इंग्‍लैंड के 300 रन 46.3 ओवर में बने.शमी ने इसके बाद जोस बटलर (20) और फिर क्रिस वोक्‍स (7) को आउट करके मैच में अपने 5 विकेट पूरे किए. अफगानिस्‍तान और वेस्‍टइंडीज के खिलाफ भी उन्‍होंने 4-4 विकेट लिए थे.विकेटों की इस पतझड़ के बीच स्‍टोक्‍स चौके-छक्‍के लगाकर स्‍कोर को तेजी से आगे बढ़ा रहे थे.इंग्‍लैंड का आखिरी विकेट बेन स्‍टोक्‍स के रूप में गिरा जिन्‍हें बुमराह ने आउट किया. 50 ओवर में इंग्‍लैंड का स्‍कोर 7 विकेट खोकर 337 रन रहा.
    विकेट पतन: 160-1 (रॉय, 22.1), 205-2 (बेयरस्‍टॉ, 31.4), 207-3 (मोर्गन, 33.4), 277-4 (रूट, 44.1), 310-5 (बटलर, 46.6)
    भारतीय टीम ने विजय शंकर के स्‍थान पर ऋषभ पंत को प्‍लेइंग XI में स्‍थान दिया है. दूसरी ओर, इंग्‍लैंड टीम में जेम्‍स विंस की जगह जेसन रॉय ने वापसी की है. मोईन अली की जगह लियोम प्‍लंकेट को जगह दी गई है.
    दोनों टीमें इस प्रकार हैं..
    इंग्लैंड: जेसन रॉय, जॉनी बेयरस्‍टॉ, जो रूट, इयोन मोर्गन (कप्‍तान), बेन स्टोक्स, जोस बटलर, क्रिस वोक्स, लियाम प्लंकेट, आदिल राशिद, जोफ़्रा आर्चर और मार्क वुड.
    भारत: केएल राहुल, रोहित शर्मा, विराट कोहली (कप्‍तान), ऋषभ पंत, केदार जाधव, एमएस धोनी, हार्दिक पंड्या, मोहम्मद शमी, कुलदीप यादव, युज़वेंद्र चहल और जसप्रीत बुमराह.



कोई टिप्पणी नहीं