Breaking News

World Blood Donor Day: क्या करें और क्या नहीं रक्तदान से पहले व बाद



World Blood Donor Day: रक्तदान से पहले व बाद में क्या करें और क्या नहीं
14 जून को वर्ल्ड ब्लड डोनर डे है। अगर आपने भी ब्लड डोनेट करने का मन बनाया है तो फिर पहले जान लीजिए कि रक्तदान से पहले और बाद में क्या करना चाहिए और क्या नहीं।
हर साल 14 जून को वर्ल्ड ब्लड डोनर डे मनाया जाता है। इसे ऑस्ट्रियाई जीवविज्ञानी और भौतिकीविद कार्ल लेण्डस्टाइनर की याद में मनाया जाता है। दरअसल उन्होंने ही ब्लड में मौजूद ब्लड ग्रुप का वर्गीकरण किया था। आंकड़ों के मुताबिक, भारत में सालाना 1 करोड़ ब्लड यूनिट की जरूरत पड़ती है। इसलिए समय-समय पर ब्लड डोनेट यानी रक्तदान करते रहना चाहिए। रक्तदान करने से न सिर्फ हार्ट संबंधी बीमारियों का खतरा कम हो जाता है बल्कि डोनेट किए जाने वाले ब्लड की भरपाई कुछ ही देर में हो जाती है। 

लेकिन क्या आप जानते हैं कि ब्लड डोनेट करने से पहले और डोनेट करने के बाद क्या करना चाहिए और क्या नहीं? आइए आपको इस बारे में विस्तार से बताते हैं। 

सबसे पहले वे बातें जो आपको रक्तदान से पहले ध्यान रखनी चाहिए: 
सबसे पहले तो आप अपना हेल्थ चेकअप और ब्लड टेस्ट करवा लें ताकि पता चल सके कि आप और आपका ब्लड एकदम हेल्दी हैं और खून में हीमॉग्लोबिन का लेवल कम से कम 12.5 पर्सेंट हो। 

ध्यान रहे कि कोई भी हेल्दी और फिट व्यक्ति, जिसे किसी तरह का संक्रमण नहीं है वह रक्तदान कर सकता है। 18 से 20 साल के ऐसे युवा भी ब्लड डोनेट कर सकते हैं जिनका वजन 50 किलो है। 

- अगर हाई ब्लड प्रेशर, किडनी या फिर डायबीटीज या एपिलेप्सी जैसी बीमारी हो, वे रक्तदान न करें। 


- जिन महिलाओं का मिसकैरेज हुआ है उन्हें 6 महीनों तक ब्लड डोनेट नहीं करना चाहिए। 


- पिछले एक महीने में अगर डोनर से किसी तरह का टीकाकरण कराया हो। 


- अगर शराब का सेवन किया हो तो 24 घंटे तक रक्तदान नहीं करना चाहिए। 
- प्रचुर मात्रा में आयरन रिच फूड खाएं जैसे कि मछली, मीट, बीन्स और पालक आदि। रक्तदान से शरीर में आयरन की कमी हो जाती है। आयरन शरीर के विभिन्न अंगों में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम करता है। इसकी कमी से कमजोरी और चक्कर आ सकते हैं। इसके अलावा भरपूर मात्रा में लिक्विड पिएं और रक्तदान से एक दिन पहले भरपूर नींद लें और रिलैक्स करें। 

- आंवला, संतरा और नींबू जैसे विटमिन सी युक्त फल खूब खाएं ताकि आयरन सही समय पर और पूरी तरह से शरीर में अब्जॉर्ब हो सके। जंक फूड, आइसक्रीम और चॉकलेट से दूर रहें। 


- इसके बाद जिस भी ब्लड कैंप या अस्पताल में जाएं वहां रक्तदान से पहले आसपास की साफ-सफाई और उपकरणों की स्वच्छता सुनिश्चित कर लें। सिरिन्ज भी देख लें कि वह नई हो। 


- ब्लड लेते वक्त डॉक्टर और स्टाफ के हाथों में ग्लव्स होने चाहिए। किसी भी संक्रमित व्यक्ति को ब्लड डोनेशन कैंप में न आने दें। 


रक्तदान के बाद क्या करें 
- रेड क्रॉस ब्लड के अनुसार, बाजू के जिस पॉइंट से खून लिया गया, उसे रक्तदान के बाद अच्छी तरफ साफ पानी और साबुन से धोएं। 


- रक्तदान के बाद कम से कम आधा घंटा आराम करें और भारी काम या कठिन एक्सर्साइज जैसे कि डांस, जिम या रनिंग करने से बचें। 


- रक्तदान के तुरंत बाद गाड़ी न चलाएं। ऐसा फ्रूट जूस या फिर फूड लें जिसमें शुगर की मात्रा अधिक हो। इससे आपका ब्लड शुगर लेवल जल्दी ही नॉर्मल हो जाएगा। 


- ब्लड डोनेट करने के 8 घंटे बाद तक शराब को हाथ भी न लगाएं।