submit your Url to cotid.org tto improve marketing This site is listed under Internet Directory चुनाव परिणामों को लेकर सीएम अशोक गहलोत का बड़ा बयान, अब कह डाली ये बात - THANKS INDIA NEWS

Breaking News

चुनाव परिणामों को लेकर सीएम अशोक गहलोत का बड़ा बयान, अब कह डाली ये बात


चुनाव परिणामों को लेकर सीएम अशोक गहलोत का बड़ा बयान, अब कह डाली ये बात

Rajasthan Lok Sabha Election Results 2019: कांग्रेस ने इस परम्परा को सदैव बनाये रखा और इसका निर्वहन करते हुए देश में लोकतंत्र को मजबूत और कायम रखने का काम किया...


जयपुर।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( Ashok Gehlot ) ने शांतिपूर्वक मतदान के लिए जनता एवं कांग्रेसजनों को धन्यवाद देते हुए कहा है कि लोकतंत्र में जनादेश शिरोधार्य होता है, जिसे हम विनम्रता के साथ स्वीकार करते हैं। कांग्रेस ने इस परम्परा को सदैव बनाये रखा और इसका निर्वहन करते हुए देश में लोकतंत्र को मजबूत और कायम रखने का काम किया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने श्री राहुल गांधी के नेतृत्व में एकजुट होकर कांग्रेस की नीतियों, कार्यक्रमों एवं सिद्धान्तों और जन घोषणा-पत्र के कार्यक्रमों के आधार पर जन-जन तक पहुंचने के लिए कठोर परिश्रम किया। उन्हें निराश होने की आवश्यकता नहीं है, हमें देश की एकता व अखण्डता को बनाये रखने के लिए निरन्तर कार्यरत रहना है।
सीमए गहलोत ने कहा कि कांग्रेस के लिये देश सर्वोपरि है, जबकि भाजपा के लिये सत्ता महत्वपूर्ण है। कांग्रेस अध्यक्ष श्री राहुल गांधी ने यह आम चुनाव जनहित एवं विकास के मुद्दों पर लड़ा जबकि श्री नरेन्द्र मोदी ने चुनाव आचार संहिता की धज्जियां उड़ाते हुए धर्म, जाति, सेना के शौर्य और पराक्रम के नाम पर यह चुनाव लड़ा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री नरेन्द्र मोदी ने वर्ष 2014 में किये चुनावी वादों के बारे में जनता को कोई जवाब नहीं दिया और ना ही भाजपा के संकल्प-पत्र में किये गये वायदों की चर्चा की। कांग्रेस ने अपने जन घोषणा-पत्र में लोक कल्याण और विकास के लिये बनाये गये कार्यक्रमों पर वोट मांगे।

राजस्थान में लोकसभा चुनाव 2014 के परिणाम दोहराते नज़र आ रहे हैं। यहां अब तक मिले ताज़ा रुझानों में सभी 25 सीटों पर भाजपा प्रत्याशियों ने बढ़त बनाई हुई है। ख़ास बात ये है कि लोकसभा चुनाव 2019 की मतगणना के सामने आये रुझानों में राजस्थान में भाजपा के कम से कम 15 उम्मीदवार अपने निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस उम्मीदवारों से एक लाख से अधिक मतों से आगे हैं।