Breaking News

राजीव गौबा बन सकते हैं अगले कैबिनेट सेक्रेटरी, इसी महीने खत्म हो रहा कई आला अफसरों का कार्यकाल


राजीव गौबा बन सकते हैं अगले कैबिनेट सेक्रेटरी, इसी महीने खत्म हो रहा कई आला अफसरों का कार्यकाल

  • रक्षा सचिव पद के लिए चार अधिकारियों के नाम चर्चा में
  • 30 मई से पहले हो सकती है आईबी और रॉ चीफ की नियुक्ति

नई दिल्ली. नई सरकार के कामकाज शुरू करने से पहले कई आला अफसरों का कार्यकाल खत्म होने जा रहा है। इनमें रक्षा सचिव, आईबी और रॉ के प्रमुख शामिल हैं। मौजूदा कैबिनेट सेक्रेटरी पीके सिन्हा का एक्सटेंशन भी जून में खत्म होगा। ऐसे में उनकी जिम्मेदारी मौजूदा गृह सचिव राजीव गौबा को मिल सकती है। उम्मीद है कि गौबा 1 जून को ही बतौर ओएसडी जिम्मेदारी संभाल लेंगे ताकि कैबिनेट सेक्रेटेरियट के कामकाज से अच्छी तरह बाफिक हो सकें।

मौजूदा कैबिनेट सेक्रेटरी को दो साल का एक्सटेंशन मिला था

  1. मोदी सरकार ने जून 2018 में दूसरी बार सिन्हा को एक साल का एक्सटेंशन दिया था। इस तरह से पीके सिन्हा बतौर कैबिनेट सचिव अपने चार साल पूरे करेंगे। उनसे पहले अजित सेठी का कार्यकाल भी इतना ही रहा था।
  2. 30 मई से पहले हो सकती हैं नियुक्तियां

    केंद्र सरकार को 30 मई से पहले रक्षा सचिव का नाम भी तय करना होगा। इंटेलिजेंस ब्यूरो और रॉ के चीफ का एक्टेंशन भी मई के आखिर में पूरा हो जाएगा। उम्मीद है इन अधिकारियों की नियुक्ति 30 मई को प्रधानमंत्री मोदी के शपथ ग्रहण से पहले कर दी जाए।
  3. रक्षा सचिव के लिए 4 नाम चर्चा में 

    रक्षा सचिव के लिए कई नामों पर विचार किया जा रहा है। इनमें डिफेंस प्रोडक्शन सेक्रेटरी अजय कुमार, बैंकिंग सेक्रेटरी राजीव कुमार, एन्वायरमेंट सेक्रेटरी सीके मिश्रा और पावर सेक्रेटरी अजय भल्ला शामिल हैं। नए रक्षा सचिव की नियुक्ति दो साल के लिए होगी। 
  4. पटना यूनिवर्सिटी से गोल्ड मेडलिस्ट हैं गौबा

    राजीव गौबा ने अगस्त 2017 में गृह सचिव का कार्यभाल संभाला था। भारतीय प्रशासनिक सेवा में झारखंड कैडर के 1982 बैच के अधिकारी हैं। वे पटना यूनिवर्सिटी से बीएससी (फिजिक्स) में गोल्ड मेडलिस्ट हैं।

कोई टिप्पणी नहीं