submit your Url to cotid.org tto improve marketing This site is listed under Internet Directory मोदी ने कहा- बनारसी पान की पीक थूककर भारत माता का जयकारा लगाना सही नहीं - THANKS INDIA NEWS

Breaking News

मोदी ने कहा- बनारसी पान की पीक थूककर भारत माता का जयकारा लगाना सही नहीं

मोदी ने कहा- बनारसी पान की पीक थूककर भारत माता का जयकारा लगाना सही नहीं

  1. मोदी ने कार्यकर्ताओं से कहा- चुनाव में आप सब नरेंद्र मोदी बन गए, इसके लिए आभार
  2. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- इस चुनाव में अंकगणित को केमेस्ट्री ने पराजित कर दिया
  3. मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा की

वाराणसी. लोकसभा चुनाव में जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी पहुंचे। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ बाबा विश्वनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की। मोदी ने दीनदयाल हस्तकला संकुल में जीत के लिए कार्यकर्ताओं और काशी की जनता का आभार जताया। उन्होंने कहा कि चुनाव में काशी को लेकर निश्चिंत था, इसीलिए बाबा केदारनाथ के दरबार में जाकर बैठ गया था। मोदी ने सरकारी बसों की सीट फाड़ने और पान खाकर गंदगी फैलाने वालों पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि कुछ लोग बनारसी पान की पीक थूककर बोलते हैं भारत माता की जय। ऐसे कैसे भारत माता की जय होगी? 
मोदी ने कहा, ‘‘पार्टी और कार्यकर्ता जो आदेश करते हैं, उसका पालन करने का प्रयास करता हूं। पिछले महीने 25 तारीख को मैं यहां था, जिस आन-बान शान के साथ काशी ने एक विश्व रुप दिखाया था। उसने पूरे हिंदुस्तान को प्रभावित किया था। कार्यकर्ताओं ने मुझे आदेश दिया था कि एक महीने तक आप काशी में प्रवेश नहीं कर सकते हैं। देश ने भले ही पीएम बनाया हो, लेकिन आपके लिए कार्यकर्ता हूं।’’
मोदी ने कहा- इस चुनाव में अंकगणित को केमेस्ट्री ने पराजित किया
प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘चुनाव परिणाम तो गणित होता है, लेकिन अब देश के राजनीतिक विश्लेषकों को मानना होगा कि अर्थमैटिक के आगे भी केमेस्ट्री होती है। गुणा-भाग के हिसाब से परे भी केमिस्ट्री होती है। देश की समाज शक्ति की जो केमेस्ट्री है आदर्शों और संकल्पों की जो केमेस्ट्री है, वह सारे गुणा-भाग को पराजित कर देती है। इस बार भी अंकगणित को केमेस्ट्री ने पराजित किया है।’’
'काशी और परिणाम को लेकर निश्चिंत था'
  • मोदी ने कहा, ‘‘18-19 तारीख को मन हुआ कि काशी चले जाएं, लेकिन आपने आदेश दिया है। यह बाबा नहीं तो कोई और बाबा। शायद ही कोई उम्मीदवार चुनाव और चुनाव के नतीजों के समय इतना निश्चिंत होता है। इसका कारण मोदी नहीं, बल्कि आपका परिश्रम है। काशी का विश्वास है। नतीजे आए तब भी निश्चिंत था। मौज के साथ केदारनाथ में बाबा के चरणों में जाकर बैठ चुका था।’’
  • ‘‘काशी तो अविनाशी है। आप लोगों ने इतने कार्यक्रम किए, मुझे जानकारी मिलती थी। यहां चुनाव को लोकोत्सव बना दिया गया। पूरे चुनाव अभियान में कह सकता हूं कि तू-तू, मैं-मैं का पक्ष कम था, अपनत्व ज्यादा था। इस चुनाव में जो अलग-अलग दलों और निर्दलीय साथी चुनाव में थे। उनका भी धन्यवाद करता हूं कि काशी के गरिमा के स्वरूप अभियान को आगे बढ़ाया।’’
  • ‘‘इस चुनाव में कार्यकर्ताओं के साथ मिलना हुआ तो मैंने कहा था कि यहां पर नामांकन तो एक नरेंद्र मोदी का हुआ होगा, यह चुनाव घर-घर और गली-गली का नरेंद्र मोदी लड़ेगा। एक प्रकार से आप सब नरेंद्र मोदी बन गए। इस पूरे अभियान को आपने चलाया।’’
'भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्याएं हो रहीं'
  • मोदी ने कहा, ‘‘हमने केरल, बंगाल और कश्मीर में सिलेक्टिव मानवतावाद, संवेदनशीलता का संकट झेला है। हमारे सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने शाहदत मोल ली। विचारधारा के कारण उन्हें मौत के घाट उतारा गया। त्रिपुरा में फांसी पर लटका दिए जाते थे। बंगाल में अभी भी नहीं रुक रहा है। कश्मीर में जान की बाजी लगाई है। इन राज्यों में हिंसा को मान्यता दी गई है।’’
  • ‘‘अंबेडकर और गांधी ने छुआछूत को खत्म करने के लिए अपनी जिंदगी खपाई, लेकिन राजनीतिक छुआछूत दिनों-दिन बढ़ती जा रही है। भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या होना और दूसरी तरफ भाजपा का नाम लेते ही अनटचैबिलिटी, छुओ मत। जो लोग अपने आप को एकता का ठेकेदार बनाते हैं, उन्होंने सिर्फ आंध्र का विभाजन किया। वहां आज भी शांति का महौल नहीं बन पाया है।’’
  • ‘‘भाजपा राजनीतिक कैनवास में लोकतंत्र को लेकर जीने वाली अकेली पार्टी है। हम सत्ता में आकर भी लोकतंत्र की परवाह करने वाले लोग हैं। दूसरी सरकारों में विपक्ष का नाम तक नहीं होता है। त्रिपुरा में 30 साल तक विपक्ष का शासन रहा, क्या वहां विपक्ष था? दो साल से हम सत्ता में, वहां शानदार विपक्ष है। संसद का इस्तेमाल चर्चा के लिए होना चाहिए, लेकिन जब चर्चा में मुद्दे और तथ्य न हो तो हंगामा किया जाता है। हम जाति और संप्रदाय से ऊपर महान विरासत और आधुनिक विजन के साथ चलने की कोशिश करेंगे।’’
इस बार ज्यादा बड़ी जीत मिली
वाराणसी संसदीय क्षेत्र में मोदी को पिछली बार की तुलना में इस बार 1 लाख 7 हजार 721 वोट ज्यादा मिले हैं। 2014 में मोदी 3 लाख 71 हजार 784 वोटों से जीते थे। इस बार यह अंतर 4 लाख 79 हजार 505 वोट रहा। गठबंधन प्रत्याशी शालिनी यादव दूसरे और कांग्रेस से अजय राय तीसरे नंबर पर रहे।

कोई टिप्पणी नहीं