submit your Url to cotid.org tto improve marketing This site is listed under Internet Directory झारखंड / नक्सलियों के आईईडी धमाके में 26 जवान जख्मी, एयरलिफ्ट कर रांची लाए गए - THANKS INDIA NEWS

Breaking News

झारखंड / नक्सलियों के आईईडी धमाके में 26 जवान जख्मी, एयरलिफ्ट कर रांची लाए गए


झारखंड / नक्सलियों के आईईडी धमाके में 26 जवान जख्मी, एयरलिफ्ट कर रांची लाए गए

  • सरायकेला के कुचाई इलाके में सीआरपीएफ की 209 कोबरा यूनिट और झारखंड जगुआर टीम स्पेशल ऑपरेशन में जुटी थी
  • नक्सलियों ने धमाके के बाद जवानों पर फायरिंग भी की

रांची. झारखंड के सरायकेला खरसावां में नक्सलियों ने मंगलवार सुबह आईईडी धमाका किया। इसमें पुलिस और 209 कोबरा के 26 जवान घायल हो गए। पांच की हालत गंभीर बताई जा रही है। डीजी नक्सल अभियान मुरारी लाल मीणा ने घटना की पुष्टि की है। ब्लास्ट के बाद नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग भी की।
जानकारी के मुताबिक, राय सिंदरी पहाड़ पर नक्सलियों ने ब्लास्ट किया। घायल जवानों को सेना के हेलिकॉप्टर द्वारा एयरलिफ्ट कर रांची के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
डीजीपी डीके पांडे ने बताया था कि नक्सलियों ने यह आईईडी चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करने के लिए लगाए थे। कोबरा, झारखंड जगुआर और झारखंड पुलिस के संयुक्त अभियान ने इलाके को सुरक्षित कर लिया है।
सर्च ऑपरेशन के दौरान हुआ हादसा
अफसरों के मुताबिक, सीआरपीएफ की विशेष टीम कोबरा और झारखंड जगुआर के जवान सुबह लॉन्ग रेंज पेट्रोलिंग (एलआरपी) से लौट रहे थे। इसी दौरान यह ब्लास्ट हुआ। फिलहाल, मौके पर भारी संख्या में जवानों को तैनात किया गया है। 
गढ़चिरौली में हुए थे 15 जवान शहीद
महाराष्ट्र के गढ़चिरौली में 30 अप्रैल को हुए नक्सली हमले में पुलिस के 15 जवान शहीद हो गए थे। हमले में बस ड्राइवर की भी मौत हुई थी। इससे पहले इसी इलाके में नक्सलियों ने रोड निर्माण में लगे 30 वाहनों को आग लगा दी थी। नक्सली हमला कुरखेड़ा से छह किमी दूर कोरची मार्ग पर हुआ था। महाराष्ट्र पुलिस के जवान निजी बस से गढ़चिरौली की ओर जा रहे थे। यह इलाका महाराष्ट्र-छत्तीसगढ़ सीमा पर है।
शहीद जवान सी-60 फोर्स के कमांडो थे
शहीद हुए जवान पुलिस की सी-60 फोर्स के कमांडो थे। इस फोर्स में 60 जवान होते हैं। इसका गठन 1992 में गढ़चिरौली के तत्कालीन एसपी केपी रघुवंशी ने किया था। इस फोर्स के कमांडो नक्सल विरोधी अभियानों के लिए ही प्रशिक्षित किए जाते हैं। ये गुरिल्ला युद्ध में माहिर होते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं